PM CARES(पीएम केयर्स) का फुल फॉर्म क्या होता है?

PM CARES(पीएम केयर्स): Prime Minister's citizen Assistance Relief in Emergency situations ( प्राइम मिनिस्टर सिटीजन डिस्टेंस रिलीफ इन इमरजेंसी सिचुएशन)

कृपया शेयर करे

PM CARES(पीएम केयर्स) का मतलब या फुल फॉर्म Prime Minister’s citizen Assistance Relief in Emergency situations ( प्राइम मिनिस्टर सिटीजन डिस्टेंस रिलीफ इन इमरजेंसी सिचुएशन) होता है

पीएम केयर्स फंड की स्थापना 28 मार्च 2020 को कोरोनावायरस महामारी फैलने के बाद किया गया

इस फंड का प्रयोग कोरोना महामारी से लड़ने, लोगों का इलाज करने, कोरोनावायरस का इलाज ढूंढने के लिए जरूरी रिसर्च करने, और भविष्य में इस तरह की कोई और महामारी फैलने पर उस सिचुएशन को टैकल करने के लिए किया जाएगा

पीएम केयर्स फंड के चेयरमैन भारत के प्रधानमंत्री को बनाया गया है, और साथ में भारत के गृह मंत्री, रक्षा मंत्री और वित्त मंत्री को भी इस ट्रस्ट का मेंबर बनाया गया है
साथ में प्रधानमंत्री तीन और लोगों को इस ट्रस्ट में शामिल कर सकते हैं, जिसमें विपक्ष के लोग भी हो सकते हैं

 

PM cares full form in Hindi
PM cares full form in Hindi

 

पीएम केयर्स फंड में दी गई दान की राशि पर भारत की इनकम टैक्स अधिनियम 80 G के तहत इनकम टैक्स में छूट दी जाएगी

भारत में pm केयर्स से पहले प्रधानमंत्री के द्वारा, प्रधानमंत्री राहत कोष चलाया जा रहा था, जिसमें किसी भी मुसीबत के वक्त लोग अपना योगदान दे सकते थे, और इस फंड का प्रयोग प्रधानमंत्री देश में आने वाली अलग-अलग तरह की आपदाओं की स्थिति में लोगों की मदद करने के लिए करते थे

पीएम केयर्स फंड में कम से कम ₹10 रुपये दान किया जा सकता है और अधिक से अधिक दान की राशि का कोई लिमिट नहीं रखा गया है

भारत के बाहर रहने वाले भारतीय या कोई विदेशी नागरिक भी इस फंड में दान कर सकता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर भारत और दुनिया भर के बहुत सारे लोगों ने पीएम केयर्स फंड में दान किया और मई 2020 तक ही लगभग 10,000 करोड़ से ज्यादा रुपए इस फंड में जमा हो चुके थे

PM Cares में कुछ सबसे बड़े दानदाताओं के नाम-

  • TATA Group- 1500 करोड़
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज – 500 करोड़
  • आदित्य बिड़ला समूह – 400 करोड़
  • अडानी ग्रुप – 100 करोड़
  • अक्षय कुमार – 25 करोड़

भारत सरकार के बहुत सारे एम्पलाई और अन्य कंपनी में नौकरी करने वाले बहुत सारे लोगों ने भी अपना 1 दिन का सैलरी इस राहत के काम के लिए देने का फैसला किया

पीएम केयर्स में कोई कैसे दान कर सकता है?

इस आपदा फंड में दान करने के लिए कोई व्यक्ति या कंपनी सभी तरह के उपलब्ध बैंकिंग सेवाओं का प्रयोग कर दान कर सकता है

जैसे डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, मोबाइल वॉले,ट एनईएफटी, आरटीजीएस, डिमांड ड्राफ्ट, चेक आदि के द्वारा

PM CARES account Details

SBI account Details –

Savings Bank A/C No. 39238765008

IFSC Code: SBIN0000691

Branch- New Delhi Main Branch, No.11, Parliament Street, New Delhi-110001

Note-

कृपया ध्यान दें भारत सरकार के तरफ से यह सलाह दी गई है, किसी भी प्रकार का डोनेशन आप ऊपर दिए गए अकाउंट डिटेल्स के साथ ही करें, या पीएम केयर के ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट कर अन्य माध्यमों का प्रयोग करें
क्योंकि बहुत सारे जालसाज ने पीएम केयर से मिलता-जुलता बहुत सारा अकाउंट और यूपीआई आईडी बना लिया है, जिस के थ्रू वे लोग आपके दिए गए सहयोग को गटक सकते हैं

PM Cares FAQs

क्या पीएम केयर्स की परवाह आरटीआई के तहत आती है?

अप्रैल 2020 के महीने में, कुछ लोगों ने यह जानने के लिए आरटीआई दायर की कि पीएम केयर्स में कितना पैसा आया है और यह पैसा कैसे खर्च किया जा रहा है, लेकिन भारत सरकार ने आरटीआई का जवाब देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि पीएम केयर्स आरटीआई के दायरे में नहीं आता है।

पीएम केयर्स फंड और पीएम रिलीफ फंड में क्या अंतर है?

मूल रूप से PM Cares Fund और PM Relief Fund के बीच कोई बड़ा अंतर नहीं है। यही कारण है कि कई अर्थशास्त्री और प्रसिद्ध व्यक्तित्व एक नई राहत निधि की आवश्यकता के बारे में सवाल उठा रहे हैं।

एक बड़ा अंतर यह भी है कि प्रधान मंत्री पीएम राहत के अध्यक्ष थे, और इसके अलावा निदेशक स्तर के केवल एक सचिव ने उन्हें आपातकाल में लोगों के लिए इस फंड का सही उपयोग करने में मदद की।
जबकि पीएम केर्न्स के सचिव प्रधान मंत्री  हैं, वित्त मंत्री, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री भी इस के न्यासी हैं

पीएम रिलीफ केयर वेबसाइट पर, आपको प्राप्त दान और खर्च किए गए धन का ब्योरा मिलेगा, जबकि यह जानकारी पीएम केयर्स वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है।

 

Similar full forms-

WHO full form in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe to our newsletter to get latest updates and news

We keep your data private and share your data only with third parties that make this service possible. See our Privacy Policy for more information.

We keep your data private and share your data only with third parties that make this service possible. See our Privacy Policy for more information.