BMI(बीएमआई) का फुल फॉर्म क्या होता है?

BMI(बीएमआई): Body Mass Index(बॉडी मास इंडेक्स)

कृपया शेयर करे

BMI(बीएमआई) का मतलब या BMI का फ़ुल फ़ॉर्म Body Mass Index(बॉडी मास इंडेक्स) होता  है ।

आप इसे एक फार्मूले के तौर पर जान सकते हैं जो वजन तय करने के लिए कारगर है, क्योंकि आमतौर पर लोगों को यह मालूम नहीं होता कि उनका वजन कितना होना चाहिए।

जहां आप इसके इस्तेमाल से यह आसानी से पता लगा सकते हैं कि आपके शरीर के मुताबिक आपका कितना वजन होना चाहिए।

आपका वजन कितना कम है, या कितना ज्यादा है इससे पता चलता है कि आपका शरीर आपको किस तरह के संकेत दे रहा है।

अगर आपका BMI- Body mass index सही नहीं है तो फिर समझ ले कि आपको डायबिटीज, स्ट्रोक और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों का खतरा है।

उदाहरण के तौर पर हम आपको बता दें कि भारतीयों के लिए उनका बॉडी मास इंडेक्स 22.1 से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

BMI Full Form in Hindi
BMI Full Form in Hindi

 

किसी भी जवान इंसान की शरीर का अपेक्षित भार उसकी लंबाई के अनुसार होना सही माना जाता है, क्योंकि इससे आपके शरीर का ढांचा सही रहता है।

इसलिए यह जानना आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है, कि ओवरवेट होना या मोटापे का शिकार होने से पहले ही आप अपने वजन को नियंत्रित कर ले वरना जोखिम भरी स्थिति हो सकती है।

बीएमआई कैटेगॉरीज़ (BMI categories)

सबसे बड़ा सवाल जो लोगों के मन में उठता है कि कितना बॉडी इंडस होना चाहिए,जिससे कि हमें पता चल सके कि हम स्वस्थ हैं या नहीं

18.5 से कम बॉडी मास इंडेक्स है तो:-

अगर आप की ऊंचाई और वजन के आधार पर आपका बॉडी मास इंडेक्स 18.5 से कम आता है, तो समझ ले कि आपका वजन सामान्य से कम है

और आपको इसे बढ़ाने की कोशिश करने की सलाह दी जाती है।

18.5 से 24.9 के बीच बॉडी मास इंडेक्स:-

अगर आपका बॉडी मास इंडेक्स स्तर 18.5 से 24.9 के बीच में है तो यह एक बहुत ही सही स्थिति मानी जाती है,

क्योंकि इस स्थिति में आपका वजन बिल्कुल फिट रहता है, और आपको बस इसे हमेशा मेंटेन रखने की जरूरत होती है।

 25 से ऊपर बॉडी मास इंडेक्स:-

अगर आपका बॉडी मास इंडेक्स 25 या उससे ऊपर है, तो फिर आपको यहां से सावधानी बरतनी चाहिए,

क्योंकि आपको बता दें कि इस स्थिति में आपको डायबिटीज 2, दिल का रोग होने की अधिक संभावना होती है।

जबकि 30 से अधिक बॉडी मास इंडेक्स होने पर मोटापे के सभी दुष्परिणाम के लिए आप तैयार रहें।

बॉडी मास इंडेक्स का कैलकुलेशन कैसे होता है?

BMI- Body mass index कैलकुलेट करने का सबसे आसान तरीका हम आपको उदाहरण के तौर पर बताते हैं कि यदि आपका वजन 65 किलो है और लंबाई 5.2 फीट यानी 1.58496 मीटर है तो इसका बॉडी मास इंडेक्स आप 65/1.5 8496 ×1.5 8496 करके निकाल सकते हैं,

जो परिणाम आएगा वही आपका बॉडी मास इंडेक्स होगा।

इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि आप बॉडी मास इंडेक्स को मापने के लिए फीते का इस्तेमाल करके अपने कद को इंचों में माप सकते हैं।

इसके लिए आप बस दीवार के पास सीधे खड़े हो जाएं और पेंसिल की सहायता से अपने सर के निकट दीवार पर एक निशान लगाएं, फिर आप इसकी लंबाई को आसानी से माप सकते हैं।

आपको जानकारी दे दे कि अधिक सटीक माप के लिए स्किनफोल्ड थिकनेस मेजरमेंट अंडर वाटर वेटिंग और बायोइलेक्ट्रिकल इंपेडेंस विश्लेषण को एक विकल्प के तौर पर चुन सकते हैं

पर आपको यह जानना होगा कि यह सारे तरीके आसानी से उपलब्ध नहीं होते हैं और काफी महंगी भी होते हैं।

जहां आप इसके बजाय बॉडी कंपोजिशन एनालिसिस मशीन से आकलन प्राप्त कर सकते हैं।

BMI- Body mass index हमेशा यह तय करने का सबसे अच्छा तरीका नहीं है कि आपको वजन कम करने की आवश्यकता है या नहीं…..

यदि आपके पास सामान्य से अधिक या कम मांसपेशियां है तो आपका बॉडी मास इंडेक्स आपके शरीर का फैट कितना है

यह आसानी से और सटीक माप कर सकता है जो आपको सही रिजल्ट प्रदान करता है।

सामान्य बीएमआई क्या है?

स्टैंडर ऑफ द इंडियन हेल्थ मिनिस्ट्री के अनुसार बॉडी मास इंडेक्स 23 से कम होने पर नॉर्मल, 30 से ज्यादा है तो ओवरवेट और 25 से ज्यादा है तो इस बॉडी मास इंडेक्स वाली महिलाओं को मोटापे की श्रेणी में रखा गया है।

आपको अगर यह नहीं पता तो जानकारी देदे की बॉडी मास इंडेक्स पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग अलग होता है और इसे 100% सही माना जा सकता है।

इसके पैमाने के लिए केवल वेट और हाइट होते हैं जबकि बॉडी वेट कंटेंट और मसल्स कंटेंट नहीं होते हैं।

जैसे कि आपको पता है एक महिला की बॉडी पर पुरुषों की तुलना में अधिक फैट होता है, लेकिन देखा जाए तो बॉडी मास इंडेक्स एक समान होता है।

बॉडी मास इंडेक्स पर नजर रखकर आप अपने वजन पर खुद की नियंत्रण कर सकते हैं।

ओवरवेट होना या मोटापे का शिकार होने पर पहले मोटापे पर नियंत्रण करें।

यदि आपका बॉडी मास इंडेक्स ठीक है तो पोषक आहार और व्यायाम की मदद से आप बाद में अपना वजन बढ़ा सकते हैं।

यदि आपका बॉडी मास इंडेक्स आपको हेल्दी वेट दर्शाता है तो कमर की माप लेना और भी जरूरी हो जाता है।

अगर आपकी कमर 80 सेंटीमीटर से अधिक है तो फिर आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से ग्रस्त होने का खतरा ज्यादा हो जाता है।

Body mass Index in Hindi
Body mass Index in Hindi

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि बीएमआई फुल फॉर्म का यह आर्टिकल आपको बीएमआई यानी बॉडी मास इंडेक्स के बारे में अच्छी जानकारी उपलब्ध करा पाया।

अगर आप यह आर्टिकल बीएमआई फुल फॉर्म इंग्लिश में पढ़ना चाहे तो इस वेबसाइट के इंग्लिश वर्शन पर क्लिक कर सकते हैं।

हेल्थ से जुड़ी बहुत सारी जरूरी जानकारी के लिए आप डब्ल्यूएचओ के वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

 

Similar Full Forms 

बीसीजी का फ़ुल फ़ॉर्म 

एबीजी का फ़ुल फ़ॉर्म 

Subscribe to our newsletter to get latest updates and news

We keep your data private and share your data only with third parties that make this service possible. See our Privacy Policy for more information.

We keep your data private and share your data only with third parties that make this service possible. See our Privacy Policy for more information.