UPSC (यूपीएससी) का फुल फॉर्म क्या होता है?

UPSC (यूपीएससी): Union Public service commission (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन)

कृपया शेयर करे

UPSC (यूपीएससी) का फुल फॉर्म या मतलब  Union Public service commission (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन) होता है।

यूपीएससी यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन भारत की सबसे बड़ी सेंट्रल अथॉरिटी है, जिसका काम पब्लिक सर्विस कमीशन जैसे कि आईएएस, आईपीएस, आईआरएस आदि में सिलेक्शन के लिए सेंट्रलाइज्ड एग्जाम कंडक्ट करना है।

यह भारत सरकार की सबसे बड़ी रिक्रूटमेंट एजेंसी में से एक है, जो हर साल लाखों अप्प्लिकत की भीड़ में से कुछ सबसे टैलेंटेड और तेज स्टूडेंट्स को पब्लिक सर्विस से अलग-अलग पोस्ट के लिए चुनती है।

 

UPSC full form in Hindi
UPSC full form in Hindi

 

इसके अलावा, यूपीएससी को सिविल सर्विस के कर्मियों के पदोन्नति और स्थानांतरण से संबंधित मामलों के साथ-साथ किसी सिविल विषय में सिविल सेवा में सिविल सेवक से जुड़े किसी भी अनुशासनात्मक मामलों से भी परामर्श दिया जाता है।

यूपीएससी की स्थापना 1 अक्टूबर 1926 को हुई थी और तभी से यह पब्लिक सर्विस कमीशन के लिए रिक्रूमेंट और अन्य काम एक इंडिपेंडेंट संस्था के रूप में करता रहा है।

यूपीएससी को भारत के सबसे कठिन कॉम्पटीटिव एग्जाम भी माना जाता है, जिसमें अगर कोई छात्र क्वालीफाई करता है, तो वह अलग-अलग स्टेज पर 32 घंटे से ज्यादा एग्जाम दे चूका होता है।

UPSC (यूपीएससी) द्वारा विभिन्न सिविल सेवा भर्ती

यूपीएससी हर साल 24 अलग-अलग सेंट्रल पब्लिक सर्विस के लिए रिक्रूटमेंट करती है ,जिनमें से कुछ प्रमुख निम्न है-

  • IAS– भारतीय प्रशासनिक सेवा
  • IPS– भारतीय पुलिस सेवा
  • आईआरएस- भारतीय राजस्व सेवा
  • IFS- भारतीय विदेश सेवा
  • IES- भारतीय इंजीनियरिंग सेवाएं
  • सीडीएस- संयुक्त रक्षा सेवाएं
  • ICLS- भारतीय कॉर्पोरेट कानून सेवा
  • IPoS- भारतीय डाक सेवा
  • आईडीईएस- भारतीय अंतर संपत्ति सेवा
  • IIS- भारतीय सूचनात्मक सेवा

यूपीएससी के लिए पात्रता-

Nationality-

अगर कोई छात्र UPSC (यूपीएससी) परीक्षा लिखना चाहता है तो उसे भारत का नागरिक होना चाहिए।

आयु

छात्र की आयु कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए और 32 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
हालांकि, श्रेणी के अनुसार, ओबीसी और एससी-एसटी श्रेणी के छात्रों को भी अधिकतम आयु में 5 से 6 वर्ष की छूट मिलती है।

शैक्षणिक योग्यता-

छात्रों को किसी भी स्ट्रीम से स्नातक होना चाहिए।

प्रयासों की संख्या-

कोई भी छात्र UPSC परीक्षा में अधिकतम 6 बार उपस्थित हो सकता है।

UPSC (यूपीएससी) परीक्षा के चरण-

इस कॉम्पटीटिव एग्जाम के निम्न 3 चरण होते हैं-

प्रिलिमनरी

यूपीएससी का पहला एग्जाम प्रिलिमनरी होता है, जिसमें २००-२०० मार्क्स के 2 ऑब्जेक्टिव टाइप पेपर होते हैं।

पेपर 1- 

पेपर वन के तहत कैंडिडेट के करंट इवेंट्स के नॉलेज के साथ-साथ हिस्ट्री ऑफ इंडिया, इंडियन नेशनल मूवमेंट, भारत और दुनिया के ज्योग्राफी, इंडियन पॉलीटिकल सिस्टम, इंडियन पंचायत राज सिस्टम, इंडियन इकोनॉमिक्स, वर्ल्ड इकोनामिक, इंडियन सोशल मूवमेंट्स, एनवायरनमेंट आदि टॉपिक्स के नॉलेज की टेस्ट किया जाता है।

पेपर 2- 

paper-2 के तहत कैंडिडेट के कंप्रीहेंशन स्किल्स के साथ-साथ कम्युनिकेशन, लॉजिकल रीजनिंग, एनालिटिकल एबिलिटी, डिसीजन मेकिंग, बेसिक न्यूमैरेसी, प्रॉब्लम सॉल्विंग, इंग्लिश लैंग्वेज कंप्रीहेंशन स्किल एंड मेंटल एबिलिटी की टेस्ट की जाती है।

Note-

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि प्रिलिमनरी एक्जाम का स्कोर मेरिट बनाते वक्त कंसीडर नहीं किया जाता है, सभी स्टूडेंट्स को mains एग्जाम में अप्पेअर होने के लिए प्रिलिमनरी एक्जाम क्वालीफाई करना जरूरी होता है

मेंस(Mains)

यूपीएससी एग्जाम का दूसरा चरण मेंस होता है, और प्रीलिम्स एग्जाम क्वालीफाई करने वाले स्टूडेंट्स को मेंस एग्जाम लिखने का मौका मिलता है, यह एग्जाम 2000 मार्क्स का होता है जिसमें ९ सब्जेक्टिव पेपर होते हैं।

पर्सनल इंटरव्यू

जो छात्र मेंस एग्जाम में भी अच्छा परफॉर्मेंस करते हैं, उन्हें पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, मेंस और पर्सनल इंटरव्यू के स्कोर के आधार पर फाइनल मेरिट लिस्ट बनाया जाता है।

तीनों स्टेज का एग्जाम हो जाने के बाद जब फाइनल मेरिट लिस्ट बनता है, तो वह है इसको डिसाइड करता है कि किसी स्टूडेंट को सिविल सर्विस के अंतर्गत कौन सा पोस्ट मिलेगा।

UPSC (यूपीएससी) के संपर्क विवरण

UPSC का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है और इसके संपर्क विवरण निम्नानुसार हैं-

कार्यालय का पता-

संघ लोक सेवा आयोग, धौलपुर हाउस, शाहजहाँ रोड, नई दिल्ली – 110069

फ़ोन नंबर-

011-23098543 / 23385271/23381125/23098591

ईमेल आईडी-

feedback-upsc@gov.in

वेबसाइट-

www.upsc.gov.in

यूपीएससी से जुड़ी अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या यूपीएससी और आईएएस समान हैं?

जी नहीं,
UPSC (यूपीएससी) एक ऑथॉरिज़ेड सेंट्रल एजेंसी है, जो अलग-अलग तरह की सिविल सर्विसेज के पोस्ट जैसे कि आईएएस, आईपीएस, आईआरएस आदि के लिए एग्जाम कंडक्ट करती है।

जबकि आईएएस यानी इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस पब्लिक सर्विस कमीशन का एक पोस्ट है, जिसे पब्लिक सर्विस कमीशन के सभी पोस्ट में से सबसे बेहतरीन माना जाता है।

क्या यूपीएससी परीक्षा कठिन है?

यूपीएससी एग्जाम भारत ही नहीं दुनिया के सबसे प्रेस्टीजियस और कठिन एग्जाम में से एक है।
इस एग्जाम के लिए प्रिपेयर करने वाले स्टूडेंट्स को कठिन मेहनत करनी पड़ती है, और अक्सर देखा गया है, कि स्टूडेंट्स जो इस एग्जाम के लिए प्रिपेयर करते हैं ,15 घंटा से ज्यादा समय हर दिन इस एग्जाम की प्रिपरेशन पर लगाते हैं।

 

इसी तरह के फुल फॉर्म

एनडीए फुल फॉर्म

जी  फुल फॉर्म

नीट  फुल फॉर्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe to our newsletter to get latest updates and news

We keep your data private and share your data only with third parties that make this service possible. See our Privacy Policy for more information.

We keep your data private and share your data only with third parties that make this service possible. See our Privacy Policy for more information.